गिलोय के चमत्कारी लाभ

0
Loading...

गिलोय (Giloy) एक प्रकार की बेल है। इस बेल के इस्तेमाल से अनेक रोगों का निदान होता है। अगर आपको किसी भी प्रकार की बीमारी (Disease) का आयुर्वेदिक तरीके से करना है, तो सबसे उत्तम उपाय है, गिलोय। गिलोय (Giloy) के बारे में बहुत कम लोग जानते है, लेकिन आज कि हमारी पोस्ट पढ़कर सभी लोग गिलोय और गिलोय से होने वाले फायदों (Giloy Ke Fayde) के बारे में जान जायेगे। गिलोय (Giloy) की सबसे बढ़िया बात यह है, कि यह बेल जिस पेड़ पर लगती है, उसके सारे गुणों भी इसमें आ जाते है। चलिए जाने गिलोय के फायदों (Giloy Ke Fayde) के बारे में।

गिलोय के फायदे (Giloy Benefits) – Giloy Ke Fayde

1. वजन कम करे (Losing weight) – अगर आप मोटापे की समस्या (Problem of obesity) से परेशान है, तो आप रोजाना सुबह शाम शहद में गिलोय (Giloy) और त्रिफला का पाउडर मिलाकर खाये।

2. उल्टी आने पर (vomiting) – उल्टी (vomiting) की समस्या होने पर गिलोय में मिश्री मिलाकर खाने से लाभ होता है।

3. बांझपन (Infertility) – बांझपन (Infertility) एक औरत के लिए सबसे बड़े दुःख की बात है, संसार की कोई भी औरत बांझ होना नहीं चाहती, लेकिन फिर भी बहुत सी औरते ऐसी है, जो माँ नहीं बन पाती। बांझपन (Infertility) से छुटकारा पाने के लिए दूध में Ashwagandha और गिलोय पकाकर पिए।

4. खून की सफाई (Blood cleansing) – खून में गन्दगी होने से शरीर में अनेक प्रकार के रोग होने लगते है। खून को साफ़ करने के लिए गिलोय के पत्तो को पीसकर रस निकाले। अब इस रस को सुबह खाली पेट रोजाना पिए।

5. खून की कमी दूर करे (Remove blood loss) – गिलोय के सेवन से Body में खून की कमी दूर हो जाती है। खून की कमी को दूर करने के लिए गिलोय में शहद मिलाकर खाया जाता है। गिलोय का रोजाना इस्तेमाल करने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है, जिससे शरीर को अनेक रोगों से लड़ने की ताकत मिलती है।

6. गठिया में फायदेमंद (Beneficial in arthritis) – सोंठ के साथ गिलोय का पाउडर मिलाकर खाने से गठिया की बीमारी सही हो जाती है। अगर आपको cough की समस्या है, तो आप गिलोय का पाउडर शहद के साथ खा सकते है।

7. टीबी का इलाज (TB treatment) – गिलोय के रस को शहद और ईलायची के साथ मिलाकर खाने से टीबी की बीमारी धीरे धीरे ठीक हो जाती है।

8. खुजली (Itching) – खून में गन्दगी होने पर खुजली जैसी बीमारी हो जाती है। गिलोय का रस पीने से खून साफ़ होता है। खुजली वाले हिस्से पर गिलोय को हल्दी के साथ पीसकर बाँधने से खुजली दूर हो जाती है।

loading...

9. डेंगू (Dengue) – Body में प्लेट्स की कमी के कारण डेंगू, चिकनगुनिया, बर्ड फ्लू जैसे खतरनाक रोग हो जाते है। Body में प्लेट्स को तेजी से बढ़ाने के लिए 7 इंच गिलोय की बेल में व्हीटग्रास, तुलसी के 5 पत्ते, एलोवेरा और 4 पत्ते पपीते के डालकर जूस बनाये। इस जूस को पीने से Body में आयी प्लेट्स की कमी जल्दी दूर हो जाती है।

10. दस्त (Diarrhea) – दस्त की समस्या होने पर गिलोय का रस पीने से जल्दी आराम होता है। पेट से जुडी बीमारियों जैसे कब्ज गैस आदि से छुटकारा पाने के लिए भी गिलोय के रस का प्रयोग किया जा सकता है।

11. पीलिया का इलाज (Jaundice treatment) – पीलिया को ठीक करने के लिए भी गिलोय का इस्तेमाल किया जाता है। पीलिया को ठीक करने के लिए गिलोय के चूर्ण में शहद, त्रिफला और काली मिर्च का चूर्ण मिलाकर खाये। उसके बाद एक गिलास छाज में गिलोय के पत्तो का एक चम्मच रस मिलाकर पिए।

12. कैंसर (Cancer) – गिलोय (Giloy) की जड़ में पाए जाने वाले Antioxidants से कैंसर जैसे खतरनाक Diseases का इलाज हो सकता है। गेंहू के ज्वारे में तुलसी, नीम और गिलोय (Giloy) का रस मिलाकर मिलाकर पीने से कैंसर (Cancer) की बीमारी में बहुत लाभ होता है।

13. दिल से जुड़ी बीमारियां (Heart diseases) – खून में शर्करा के लेवल और बॉडी में उच्च रक्तचाप को कण्ट्रोल करने के लिए गिलोय (Giloy) का रोजाना सेवन करना चाहिए। गिलोय (Giloy) शरीर को अनेक रोगों से बचाये रखता है।

14. बवासीर का इलाज (Hemorrhoids Treatment) – अगर आपको बवासीर की समस्या (Problem) है, तो आप मट्ठे के साथ गिलोय का चूर्ण खाये।

15. Giloy Ke Fayde : जलन मिटाये (Burning) – अगर आपके हाथो पैरो में जलन होती है, तो आप बिना किसी दवाई के गिलोय का इस्तेमाल करके हाथो पैरो की जलन को दूर कर सकते है। जलन दूर करने के लिए गिलोय के रस में आवंला रस और नीम के पत्तो का रस मिलाकर रोजाना दिन में कम से कम दो बार पिए।

16. बुखार में फायदेमंद (Beneficial in fever) – शहद में गिलोय का रस मिलाकर खाने से बुखार बिना दवाई के ठीक हो जाता है। खाँसी के साथ तेज बुखार होने पर गिलोय के रस में शहद के साथ पीपल का चूर्ण मिलाकर खाये।

17. बीमारियों से दूर करें (To avoid diseases) – रोजाना एक चम्मच गिलोय का रस पीने से बीमारिया होने का खतरा 50 % तक कम हो जाता है।

आज हमने आपको Giloy Ke Faydo (Giloy Benefits in Hindi) के बारे में बताया। Giloy Ke Faydo के बारे में जानकर आपको कैसा लगा, आप हमें कमेंट करके जरूर बताये। अगर आपके पास Giloy Ke Faydo के बारे में और कोई जानकारी है, तब भी आप हमें कमेंट के माध्यम से बता सकते है।

Disclaimer: All information are good but we are not a medical organization so use them with your own responsibility.

loading...
Loading...

LEAVE A REPLY